प्रधानमंत्री मोदी ने महारानी के शासनकाल के गोल्डन जुबली के अवसर पर उन्हें सम्मानित किया

RP, देश-विदेश, NewsAbhiAbhiUpdated 04-05-2022 IST
प्रधानमंत्री मोदी ने महारानी के शासनकाल के गोल्डन जुबली के अवसर पर उन्हें सम्मानित किया

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi Europe Visit) अपनी तीन दिवसीय यूरोप यात्रा के दौरान मंगलवार को डेनमार्क पहुंचे थे. यहां उन्होंने अपनी समकक्ष पीएम मेटे फ्रेडरिक्सन से मुलाकात कर कई अहम मुद्दों पर चर्चा की. इसके बाद पीएम मोदी ने डेनमार्क के कोपेनहेगन में किंगडम ऑफ डेनमार्क की महारानी मार्गरेट द्वितीय (Queen of the Kingdom of Denmark, Margrethe II)से भी मुलाकात की. महारानी ने पीएम मोदी का गर्मजोशी से भव्य स्वागत किया.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने इसकी जानकारी देते हुए एक ट्वीट किया है, जिसमें उन्होंने कुछ तस्वीरें भी शेयर की हैं. डेनमार्क की महारानी मार्गरेट द्वितीय के साथ प्रधानमंत्री मोदी को देखा जा सकता है.

अरिंदम बागची ने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी ने महारानी के शासनकाल के गोल्डन जुबली के अवसर पर उन्हें सम्मानित किया. डेनमार्क की राजशाही दुनिया की सबसे पुरानी राजशाही में से एक है. 82 वर्षीय महारानी 1972 से डेनमार्क की राजशाही परिवार से जुड़ी हैं.

कई यूरोपीय राजघरानों की तरह, महारानी एलिजाबेथ द्वितीय और डेनमार्क की रानी मार्ग्रेथ संबंधित हैं. दो रानियां तीसरी चचेरी बहन हैं, और उनका साझा वंश उन दोनों को यूनाइटेड किंगडम की रानी विक्टोरिया और डेनमार्क के राजा क्रिश्चियन IX से जुड़े हुए हैं.महारानी एलिजाबेथ द्वितीय और डेनमार्क की रानी मार्ग्रेथ यूरोप की एकमात्र संप्रभु रानियों में से दो हैं, क्योंकि दोनों को अपने-अपने सिंहासन विरासत में मिले हैं. रानी मार्ग्रेथ 1972 में अपने पिता, राजा फ्रेडरिक IX के उत्तराधिकारी बनने के बाद डेनमार्क की पहली संप्रभु रानी बनीं. प्रसिद्ध महारानी एलिजाबेथ द्वितीय 1952 में अपने पिता किंग जॉर्ज VI की मृत्यु के बाद सिंहासन पर बैठीं.

Also Read: म्यांमार की नेता आंग सान सू ची पर भ्रष्टाचार का आरोप, 5 साल की सजा

 

 

Recommended

Follow Us