सहारनपुर में आदमखोर हुए आवारा कुत्ते, 5 साल की मासूम को बनाया निवाला, दहशत में ग्रामीण

RP, शहर और राज्य, NewsAbhiAbhiUpdated 05-04-2022 IST
सहारनपुर में आदमखोर हुए आवारा कुत्ते, 5 साल की मासूम को बनाया निवाला, दहशत में ग्रामीण

 सहारनपुर. यूपी के सहारनपुर जनपद के थाना चिलकाना क्षेत्र के गांव बुड्ढा खेड़ा में आवारा कुत्तों ने रविवार शाम को एक 5 वर्षीय बच्ची शिफा को अपना निवाला बना लिया. परिजनों के तलाशने पर 2 घंटे बाद बच्ची का क्षत-विक्षत शव एक खेत में पड़ा मिला. रमजान के पहले दिन बच्ची की यह हालत देखकर परिवार ही नहीं ग्रामीणों की आंखें भी नम हो गई. मृतका शिफा बुड्ढा खेड़ा निवासी जावेद की पुत्री थी.

जावेद रविवार की शाम करीब 6:30 बजे अपने घर से गांव के बाहरी छोर पर स्थित कारखाने पर जा रहा था. जावेद के पीछे-पीछे उसकी 5 वर्षीय बेटी शिफा भी चल पड़ी. जिसकी जानकारी जावेद को नहीं हो पाई. सुनसान सड़क पर अकेली बच्ची गांव के बाहरी छोर पर पहुंच गई. जावेद मस्जिद में नमाज पढ़ने चला गया. शिफा अपने पिता को खोजती हुई कारखाने की तरफ चली गई. मस्जिद से आने के बाद जब जावेद ने शिफा के बारे में पूछा तो पता चला कि वह तो उसके पीछे कारखाने की तरफ गई है. तलाश की तो कारखाने से कुछ दूर हरे चारे के खेत में उसकी हड्डियों का ढांचा मिला. कुत्तों ने शिफा का पूरा मांस नोच कर खा लिया था. बताया जा रहा है की एक साल पहले ही जावेद ने शिफा का स्कूल में दाखिला कराया था. शिफा नर्सरी कक्षा में पढ़ती थी. स्कूल संचालक ने बताया कि शिफा पढ़ाई में होशियार थी. अन्य बच्चों की अपेक्षा पढ़ाई की बातों को जल्दी समझ जाती थी.

प्रशासन नहीं उठा रहा प्रभावी कदम
ग्राम प्रधान जुलकरनैन ने बताया कि पिछले कुछ दिन पहले गांव में बाहर के कुछ लोग कुत्ते छोड़ गए हैं. उन्होंने बताया कि कुत्तों को पकड़ने के लिए जिलाधिकारी से मिलेंगे. जिले में आवारा कुत्ते पहले भी जिंदगी लील चुके हैं. जिले में आए दिन कोई न कोई इन आवारा कुत्तों का शिकार बन जाता है. प्रशासन की ओर से कुत्तों को पकड़ने के लिए कोई प्रभावी कदम नहीं उठाया गया है. एक साल पहले नगर निगम द्वारा आवारा कुत्तों को पकड़ने के लिए अभियान चलाया गया था जो कुछ ही दिन बाद बंद कर दिया गया. शहर के अलावा देहात क्षेत्रों में आवारा कुत्तों के आतंक से लोग दहशत में हैं.

पहले भी हो चुकी हैं इस तरह की घटनाएं
थाना मिर्जापुर के गांव पाली में 12 वर्ष के बच्चे को कुत्तों के झुंड ने नोच कर खा लिया था. गंगोह क्षेत्र के गांव पुत्र खेड़ी में कूड़ा डालने जा रही महिला और एक बच्ची पर आवारा कुत्तों ने हमला कर दिया था. गांव लखनौती में सफाई कर्मचारी महिला पर कुत्तों ने हमला कर गंभीर रूप रूप से घायल कर दिया था. उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई थी. मल्हीपुर रोड पर घर के बाहर खेल रही 2 साल की बच्ची को कुत्तों ने मौत के घाट उतार दिया था. मोहल्ला नूर बस्ती निवासी 10 वर्षीय ईशा को भी आवारा कुत्तों ने अपना निवाला बना लिया था.

Recommended

Follow Us